Hindi paragraph on Mera Priya Khel?

Arjun Rao Madas Answered Most Recently
हर मनुष्य स्वस्थ रहने के लिए कुछ न कुछ ज़रूर करता है और स्वस्थ रहने के लिए वह कोई न कोई खेल ज़रूर खेलता है |. और कई बार एक खेल खेलते - खेलते वह उसका प्रिय खेल बन जाता है |. उसी तरह मेरा भी एक प्रिय खेल है .|उसका नाम है हॉकी |हॉकी हमारे देश का राष्ट्रीय खेल है |हॉकी मे एक घुमाव (दर)daar डंडा होता है और इसे किरमिच की गेंद से खेला जाता है| हमारे देश मे हॉकी अंग्रेजो के ज़माने से खेला जा रहा है .इस खेल को खेलते हुए हमें ८० वर्ष हो गए है | इसे खेलने के कारण हमारे देशने विशिव मे कई सुर्खिया बटोरी है और एक समय ऐसा भी था जब हमारा देश (विशिव)vishva मे (नो)number १ था | हॉकी ने हमारे देश को कई महान व्यक्तियों से (हमारा delete this word) परिचय कराया है |.उनमे से कुछ महान वक्ता लोग है "मजोरMajor ध्यानचंद " , "धनराज पिल्लै " और हमारे वर्त्तमान कप्तान "संदीप सिंह "|. मजोर ध्यानचंद ने देश की सेवा की और साथ ही साथ हॉकी को भी oonchaiyon (चायिओं) तक पहुँचाया |उनके नाम पर आज कई स्टेडियम भी बनाये गए है |परुन्तु आज (ये बहुत)yeh bade शर्म की बात है की हरे देश मे हॉकी पर (जायदा) ध्यान नहीं दिया जाता| हमें इसका पुरजोर विरोध करना (चईये)chaahiye | आज हमारे राष्ट्रीय खेल से (जादा) zyaada ध्यान तो अंग्रेजी खेलो पर दिया जाता है जैसे क्रिकेट| अब ऐसी स्तिथि आगई है जब किसी को हमारे खेल के बारे मे याद भी न aata होगा | or Just go to http://www.edupdates.com/2013/03/mera-priya-khel-nibandh.html
+ 11 others found this useful